Friday, May 16, 2008

दोहा

सुन सुन सुन आकाश में, सुन सूरज की तान
हर दिन चेहरे पर रहे, प्यार भरी मुस्कान
Post a Comment