Monday, April 21, 2008

ओलम्पिक मशाल


लामाओं के लोहू को जो चूम रहें
छोटे मानुष अहंकार में झूम रहें
तिब्बत को जो आग लगा कर आये हैं
अब दुनिया में आग लगाते घूम रहें
Post a Comment