Sunday, March 16, 2008

लायंस क्लब नोएडा का कवि सम्मेलन

दिनांक 16 मार्च 08 को नोएडा के सेक्टर 34 स्थित अग्रसेन भवन में लायंस क्लब द्वारा होली मिलन का समारोह आयोजित किया गया। इसका संयोजन श्री प्रदीप अग्रवाल व मनीष गुप्ता ने किया। राजेश चेतन के संचालन में उपस्थित हास्य कवि सम्मेलन में कवियों ने काव्य पाठ किया -


भारत की जो ताक़त हैं, वो परिवार तोड़ दें
इक दूसरे के बीच है, वो प्यार तोड़ दें
इस देश के दो चार, चैनलों के सहारे
दुनियां ये चाहती है, संस्कार तोड़ दें।
डा॰ सुनील जोगी, दिल्ली




कोई तन का दीवाना है कोई धन का दीवाना है
कोई फाल्गुन कोई मद मस्त सावन का दीवाना है
जिधर भी देखते हैं बस दीवाने ही दीवाने हैं
मगर ये मन तो केवल प्रेम चंदन का दीवाना है
गजेन्द्र सोलंकी, दिल्ली




अंखियों में रंग भरा
अधरों पे रंग,
सखि ! सुनियो रे
रंग गई कान्हा के रंग
सखि ! अब तो मैं रंग गई
कान्हा के रंग सखि।
मधु मोहिनी उपाध्याय, नोएडा


न हमसे बात करती हो
न खुलके मुस्कुराती हो
भला दिल में है ऐसा क्या
जुबां से कह न पाती हो
अजब दुर्गंध सी आती है
सांसों से तेरी दिलबर
बताओं आजकल क्या तुम
कोई गुटका चबाती हो।
शम्भु शिखर, दिल्ली


सजा लिया है मांग में, चुटकी भर सिन्दूर
होली आंगन आ गई, फौजी हमसे दूर
राजेश चेतन, दिल्ली
Post a Comment