Thursday, February 7, 2008

नगपति वंदन

हिमालय यानि
ईश्वर द्वारा भारत को मिला वरदान
मां गंगा का उदगम स्थान
आयुर्वेद की खान
वैदिक व बौध्द संस्कृति का गुणगान
भारत मां के माथे की शान
नगपति महान
घायल है
जातिवाद-भाषावाद, आंतकवाद की छाया
तस्करों की माया
धर्मान्तरण का मक्क्डजाल
और दुश्मनों की कदम ताल
हिमालय पर जारी है
ये भारत के साथ
बहुत बडी गद्दारी है
हिमालय यानि भारत
भारत यानि हिमालय
भारत को बचाना है तो
हिमालय को बचाओ
सांस्कृतिक शक्ति को जगाओं
धर्म की पताका लहराओं
हिमालय की गोदी मे खेलो
और मिलकर कहो
नगपति मेरा वंदन ले लो ।
Post a Comment