Monday, February 11, 2008

बसन्त पंचमी


बसन्त हो बहार हो
ज्ञान का सत्कार हो
माँ यहीं आशीष देना
लेखनी तलवार हो
Post a Comment