Thursday, January 31, 2008

अग्रसैन कालेज कवि सम्मेलन



दिनांक 30 जनवरी 2008 को रोहिणी सेक्टर 22 स्थित महाराजा अग्रसैन प्रोद्योगिकी संस्थान में एक हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस समारोह में संस्थान के निदेशक श्री डी आर सोमशेखर, अग्रोहा मेडीकल कालेज के वाइस चेयरमैन श्री जगदीश मित्तल, संस्थान के सांस्कृतिक संयोजक श्री राजवीर मित्तल की उपस्थिति में बहुत बड़ी संख्या में विद्यार्थियों ने काव्य पाठ का आनन्द लिया। उपस्थित कवियों ने राजेश चेतन के संचालन में अपने अन्दाज में काव्य पाठ किया। कवियों के स्वर कुछ यूं थें -

एक नंगा आदमी भागा जा रहा था
उसके पीछे एक दूसरा कच्छे में दौड़ रहा था
मैंने पूछा ये क्या क्लेश है ?
ये कौन सा भेष है ?
सामने से आवाज आई
आगे वाला विकसित व
पीछे वाला विकासशील देश है।
प्रताप फौजदार, आगरा

जिनके माथे पे उल्फत का टीका नहीं
उनको जीने का कोई सलीका नहीं
खुद को धोखे में रखना बुरी बात है
जो स्वयं का नहीं वो किसी का नहीं
पूनम रश्मि, मथुरा

ना मैं मस्जिद में जाता हूँ
ना मैं मन्दिर ही में जाता हूँ
मैं पूरा नास्तिक हूँ
आपको सच बताता हूँ मगर
जिस आँख में करुणा के बादल नित बरसते हैं
उन्हें भगवान कहता हूँ उन्हें ही सर झुकाता हूँ
अशोक बतरा, सोनीपत

अपनी कापी खुद ही अब तो जांच रहे है राहुल जी
निज पुरखों की गरिमा को ही बांच रहे है राहुल जी
अटल बिहारी के शासन में रोड़ बने जो भारत में
अब उन पर ही झूम-झूम कर नाच रहे है राहुल जी
राजेश चेतन, दिल्ली
Post a Comment