Monday, April 13, 2009

भारत - पाक सीमा की चामलियाल चौकी की यात्रा










राष्ट्र कवि संगम के जम्मू अधिवेशन के बाद श्री भूपेन्द्र कौशिक श्री प्रताप फौजदार के साथ चामलियाल चौकी की यात्रा करने का अवसर मिला । बाबा चामलियाल की समाधि पर भारत और पाक के ग्रामीण लोग श्रद्धा से चर्म रोग के इलाज के लिये आते हैं और यहां की मिट्टी की विशेषता है कि चर्म रोग ठीक हो जाता है। जुलाई माह में एक मेला भी लगता है। हवलदार गोपाल सिंह सीमा पर रहने वाले फौजी बन्धुओं की दिनचर्या के विषय में भी बात हुई। अभी सीमा पर सौहार्द का माहौल है।
Post a Comment