Monday, September 29, 2008

मल्होत्रा


गोयल जी तो गोल हैं, डाक्टर हैं नाराज
दिल्ली में अब आएगा मल्होत्रा का राज
मल्होत्रा का राज, मुखी भी है बेचारा
खुराना तो अपने आपसे खुद ही हारा
कह चेतन कविराय बुढ़ापा सबसे आगे
नौजवान हैं पीछे-पीछे और अभागे
Post a Comment