Monday, July 28, 2008

नए दोस्त


मुलायम सिंह बकरे से मिमयाते है
अमर सिंह चरणों में शीश झुकाते है
दस जनपथ को रोज गालिया देते थे
अब माता के आगे पूंछ हिलाते हैं
Post a Comment