Monday, May 12, 2008

सरपंच बंदर


ये कोई प्रपंच नहीं
ना कोई छल छंद नहीं
मित्र मित्र हैं हम दोनों
बंदर अब सरपंच नहीं
Post a Comment