Friday, November 1, 2013

दीप

देहरी ऊपर दीप सजाना अच्छा है ।
अंधकार को दूर भगाना अच्छा है ।
बाहर लाखों दीप जलें है जलने दो
भीतर मन का दीप जलाना अच्छा है ।।
Post a Comment