Tuesday, August 27, 2013

गोपाल

गाय तेरी कट रही, जमना है बेहाल
फिर से आओ देश में, हे मेरे गोपाल

Post a Comment