Thursday, June 27, 2013

वन्देमातरम्

भारती के भाल का सम्मान वन्देमातरम् ,
देश हित की भावना का गान वन्देमातरम् !

जब कभी भी इस धरा पर कोई संकट आ पड़े ,
मंत्र  सम है गूँजता वरदान वन्देमातरम् !

भिन्न भाषा, भिन्न भूषा, भिन्न इसकी बोलियाँ ,
भिन्नता में एकता पहचान वन्देमातरम् !

इस गगन में अब लहरता राष्ट्र का झण्डा अमर,
इस तिरंगे की अमिट है शान  वन्देमातरम् !

अब करोड़ों हाथ अपने राष्ट्र को महकाएँगे,
है हमारे भाग्य का भगवान वन्देमातरम् !
Post a Comment