Monday, June 8, 2009

कवि कुल में महाशोक












8 जून की सुबह कवि कुल में घोर अंधेरा लेकर आई जब विदीशा के बेतवा महोत्सव में काव्यपाठ करने के बाद भोपाल लौटते हुए देश के प्रख्यात हास्य कवि श्री ओमप्रकाश आदित्य, श्री नीरज पुरी और श्री लाड सिंह गुज्जर की आवाज एक सडक दुर्घटना में सदा के लिये खामोश हो गई । ये साहित्य जगत के लिये बहुत बड़ी क्षति है । आज दिल्ली के मालवीय नगर शमशान घाट में श्रद्देय आदित्य जी का अंतिम संस्कार किया गया जिसमें सर्वश्री कृष्ण मित्र, सुरेन्द्र शर्मा, गोविन्द व्यास, कंअर बेचैन, जैमिनी हरियाणवी, शेर जंग गर्ग, दिनेश रघुवंशी, राजगोपाल सिंह, अरुण जैमिनी, अनिल जोशी, महेन्द्र शर्मा, वेद प्रकाश, हरिओम पंवार, कुमार विश्वास, सौरभ सुमन, सत्यपाल सत्यम, सरदार मंजीत सिंह, रमेश मुस्कान और चिराग जैन के अलावा अनेक कवि और साहित्यकार उपस्तिथ थे । राष्ट्रीय कवि संगम के संयोजक श्री जगदीश मित्तल ने संस्था की ओर से श्रद्धाँजलि अर्पित की ।
Post a Comment