Saturday, April 26, 2008

हत्यारी दिल्ली

आम आदमी रोता है तो रोने दो
खून खराबा होता है तो हो्ने दो
हत्याएँ सरे आम हो रही दिल्ली में
राजा अपना सोता है तो सोने दो
Post a Comment