Tuesday, December 25, 2007

रेडियो सलाम नमस्ते


शायद उस दिन 17 दिसम्बर 2008 की सुबह थी मेरा मोबाइल घनघनाया, डल्लास के रेडियो सलाम नमस्ते से आदित्य प्रकाश सिंह का नमस्कार, एक मीठी और सधी हुई आवाज़ कानों में गुंजी - कवितांजलि कार्यक्रम में आपका स्वागत है । लगभग तीस मिन्ट के इस साक्षात्कार और काव्यपाठ कार्यक्रम में सम्मिलित होकर बहुत अच्छा लगा। हिन्दी कविता को विश्व में प्रसारित करने का एक सराहनीय प्रयास है। रेडियो की वेबसाइट www.radiosalaamnamaste.com पर जाकर भारतीय समय के अनुसार प्रत्येक सोमवार प्रातः 8:30 से 9:30 तक यह कवितांजलि कार्यक्रम सुना जा सकता है। अभी तक इस कार्यक्रम में अभिनव शुक्ला, दीपक गुप्ता, सुनील जोगी, कुमार विश्वास, मनोज कुमार मनोज, लावण्य शाह, मधुमोहिनी उपाध्याय और भी अनेक कवि काव्यपाठ कर चुके हैं। कार्यक्रम के सुत्रधार श्री आदित्य प्रकाश जिनको अभी-अभी प्रवासी सम्मान भी मिला है साधुवाद के पात्र है।
Post a Comment